Home > मुख्य ख़बरें > कोवैक्सीन कब तक आएगी और कैसे हो रहा ट्रायल? बायोटेक प्रेसिडेंट ने बताया

कोवैक्सीन कब तक आएगी और कैसे हो रहा ट्रायल? बायोटेक प्रेसिडेंट ने बताया

कोरोना के आंकड़े पूरी दुनिया को डरा रहे हैं. भारत समेत कई देशों में कोरोना फिर से वापसी करता दिख रहा है. भारत बायोटेक और ICMR की कोवैक्सीन के अंतिम चरण का ट्रायल जारी है. इसी बीच भारत बायोटेक के प्रेसिडेंट ने इस वैक्सीन के बारे में कई अहम बातें बताई हैं. (रिपोर्ट- आशीष पांडेय)

नोट : सेकुलरिज्म के चक्कर में टीवी मीडिया आपसे कई महत्वपूर्ण ख़बरें छिपा लेता है, फेसबुक और ट्विटर भी अब वामपंथी ताकतों के गुलाम बनकर राष्ट्रवादी ख़बरें आप तक नहीं पहुंचने दे रहे. ऐसे में यदि आप सच्ची व् निष्पक्ष ख़बरें पढ़ना चाहते हैं तो यहाँ क्लिक करके Bharti News App अपने फ़ोन में इनस्टॉल करें.

दरअसल, भारत बायोटेक के प्रेसिडेंट साई प्रसाद ने बताया कि कोवैक्सीन भारत की पहली वैक्सीन है. यह कम से कम 60 प्रतिशत प्रभावी होगी. उन्होंने बताया कि डब्ल्यूएचओ, यूएस एफडीए (फूड एंड ड्रग एडमिनिस्ट्रेशन) और यहां तक ​​कि भारत के सीडीएससीओ ने 50 प्रतिशत प्रभाव की उम्मीद की है. हमने कोवैक्सीन के लिए 60 प्रतिशत लक्ष्य बनाया है.

उन्होंने बताया कि तीसरे चरण में लक्षित परिणाम के बाद इस पर आगे काम किया जाएगा. उन्होंने कहा कि हम वैक्सीन जारी करने के लिए विनियामक अनुमोदन के लिए आवेदन करेंगे. हम चौथा चरण भी जारी रखेंगे. इसके अलावा यदि हम परीक्षण के अपने अंतिम चरण में मजबूत साक्ष्य के अलावा प्रभावकारी सुरक्षा डेटा स्थापित कर ले गए तो 2021 की पहली तिमाही में वैक्सीन लॉन्च करने का लक्ष्य है.

बता दें कि हाल ही में भारत बायोटेक ने तीसरे चरण का ट्रायल शुरू कर दिया है. इसमें भारत के 25 केंद्रों पर 26 हजार वॉलंटियर्स पर ट्रायल होगा. ये ट्रायल इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च यानी आईसीएमआर की साझीदारी में हो रहा है. इन वॉलंटियर्स को अगले साल तक निगरानी में रखा जाएगा, और वैक्सीन के प्रभावों का अध्ययन किया जाएगा.

हैदराबाद स्थित भारत बायोटेक ने अपनी वैक्सीन की पहली झलक भी पेश की है. बायोटेक अपने टीके का फेस 3 ट्रायल आयोजित कर रहा है.

App download

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से जुडी सभी ख़बरें सीधे अपने मोबाईल पर पाने के लिए Bharti News App डाउनलोड करें.


loading...